कोरोना आपदा के दौरान केंद्र से हिमाचल को 2930 करोड़ रुपए ट्रांसफ़र:अनुराग ठाकुर

केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट अफ़ेयर्स राज्यमंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कोरोना आपदा से हिमाचल प्रदेश को राहत पहुँचाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रदेश को अब तक 2930 करोड़ रुपए व 37000 मीट्रिक टन राशन पहुँचाये जाने की जानकारी दी है।

श्री अनुराग ठाकुर ने कहा”आज पूरी दुनिया कोरोना वायरस की चपेट में है और इस इस वैश्विक आपदा से निपटने के लिए सभी देश युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैं।हमारा देश भी इस से अछूता नहीं है जिसे देखते हुए देश की मोदी सरकार अपने नागरिकों को स्वस्थ व सुरक्षित बनाए रखने के लिए सभी सम्भव उपाय कर रही है।कोरोना आपदा के संकट को देखते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने नेतृत्व में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज का गठन किया गया है जिसके अंतर्गत ग़रीबों,मज़दूरों ,किसानों ,विधवाओं व दिव्यांगजनों के लिए आर्थिक सहायता का प्रावधान किया गया है।पूरे देश में अब तक 43 करोड़ से भी ज़्यादा लोगों को 70000 करोड़ रुपए से ज़्यादा की आर्थिक सहायता दी गई है”

आगे बोलते हुए श्री अनुराग ठाकुर ने कहा” हिमाचल प्रदेश में भी ज़रूरतमंदों प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज का पूरा लाभ मिला है।प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के अंतर्गत हिमाचल प्रदेश को अब तक 352 करोड़ रुपए ट्रांसफ़र किए गये हैं।पीएम किसान योजना के 8 लाख 70 हज़ार से भी ज़्यादा लाभार्थियों को 174 करोड़ रुपए से ज़्यादा की राशि उनके खातों में ट्रांसफ़र कर दी गई है।पीएम जनधन योजना के 6 लाख 13 हज़ार से ज़्यादा खाताधारकों के बैंक खातों में 30 करोड़ से ज़्यादा की राशि केंद्र सरकार द्वारा ट्रांसफ़र कर दी गई है। राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम के तहत 1 लाख 11 हज़ार से अधिक वृद्धों ,विधवाओं और दिव्याँगों को लगभग 5 करोड़ 59 लाख रुपए से अधिक की आर्थिक सहायता दी जा चुकी है।बिल्डिंग एंड कंस्ट्रक्शन फंड के 1 लाख 11 हज़ार से अधिक लाभार्थियों को 22 करोड़ 35 लाख से अधिक की आर्थिक मदद केंद्र सरकार द्वारा की गई है ।ईपीएफ़ओ के 6 हज़ार 559 से ज़्यादा लाभार्थियों को 13 करोड़ से 84 लाख से ज़्यादा की राशि ट्रांसफ़र कर दी गई है”

आगे बोलते हुए श्री अनुराग ठाकुर ने कहा”लॉकडाउन के चलते केंद्र सरकार की आय में कमी आई है इसके बावजूद केंद्र सरकार द्वारा राज्यों को 92 हज़ार करोड़ रुपए दिए गए हैं।केंद्रीय करों व ड्यूटी में राज्य की हिस्सेदारी के तौर पर केंद्र सरकार हिमाचल प्रदेश को अब तक 1688 करोड़ रुपए दे चुकी है।केंद्र सरकार ने जीएसटी भरपाई के तौर पर 779 करोड़ रुपए कोरोना आपदा के दौरान दे चुकी है।हमने वर्ष 2020-21 के लिए रूरल लोकल बॉडीज बेसिक ग्रांट की पहली किस्त के तौर पर 107 करोड़ रुपए हिमाचल को अब तक दे दिए हैं। हमने सूक्ष्म,लघु,मध्यम,गृह उद्योग व व्यवसायियों के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों द्वारा भारत सरकार की गारंटी पर 100 प्रतिशत आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना के तहत ऋण दिए जाने शुरू की थी।सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने जून महीने में ही अब तक इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम के तहत हिमाचल में 16,668 लोगों को 394 करोड़ रुपए की ऋण राशि मंज़ूर की गई है जिसमें से 233 करोड़ रुपए उनके बैंक खातों में डाले जा चुके हैं।केंद्र सरकार द्वारा हिमाचल की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए 48 लाख से ज़्यादा लोगों को 37000 मीट्रिक टन अनाज व दालें 2 लाख 60 हज़ार उज्ज्वला गैस के सिलेंडर दिए जा चुके हैं”

अनुराग ठाकुर ने कहा”भारत सरकार कोरोना से निपटने के लिए सभी ज़रूरी व प्रभावी कदम उठा रही है ।यह वक्त पूरी एकजुटता के साथ इस आपदा से निपटने व अपनी राष्ट्रीय एकता को दिखाने का है। इस समय हमें पूरे संयम और दृढ़ संकल्प के साथ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा सुझाए सभी उपायों का कड़ाई से पालन करने की आवश्यकता है।सतर्कता से ही कोरोना के संक्रमण की रोकथाम संभव है।हम स्वयं संक्रमित होने से बचेंगे और दूसरों को भी संक्रमित होने से बचाएँगे व हम सब मिल कर कोरोना को हरायंगे।